नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Shaheen Bagh protest :  शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन के चलते बंद रास्ता खुलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त वार्ताकारों में से एक साधना रामचंद्रन 3一5元扫雷群规怎么写शनिवार सुबह अकेले ही पहुंचीं। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बात नहीं की। उन्होंने कहा कि आज वह केवल महिलाओं से और महिलाओं के लिए ही बात करने आई हैं। दरअसल, सुबह साधाना के साथ एडवोकेट संजय हेगड़े नहीं आए, हो सकता है वह शाम को आएं। सोमवार को इस मामले की सुनवाई है इसलिए अभी फिलहाल वार्ताकारों की प्राथमिकता है कि वह प्रदर्शनकारियों को इस बात के लिए राजी कर लें कि वह स्थल बदल लें।

3一5元扫雷群规怎么写इससे पहले शाहीन बाग में बंद रास्ते खुलवाने के लिए लगातार तीसरे दिन शुक्रवार को भी वार्ताकार पहुंचे। इस दौरान कुछ महिला प्रदर्शनकारियों ने उनकी सुरक्षा की शर्त मानने पर एक तरफ का रास्ता खोलने के संकेत दिए। यहां नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में करीब दो महीने से प्रदर्शन चल रहा है।

3一5元扫雷群规怎么写सुप्रीम कोर्ट से नियुक्त वार्ताकार अधिवक्ता संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन शुक्रवार शाम करीब साढ़े छह बजे धरनास्थल पर पहुंचे और कहा कि वे केवल महिलाओं से बात करना चाहते हैं। उन्होंने धरनास्थल से सभी पुरुषों को हटने के लिए कह दिया। इसके बाद साधना रामचंद्रन ने महिलाओं से पूछा, क्या वे लोगों को परेशान कर धरना देना चाहती हैं? महिलाओं ने नहीं में जवाब दिया। फिर पूछा, आप सिर्फ एक सड़क पर बैठे हैं तो दूसरी तरफ की सड़क को चालू कर दिया जाए। महिलाओं ने कहा, क्या प्रशासन उन्हें सुरक्षा देगा। वार्ताकारों ने मौके पर मौजूद पुलिस अफसरों को बुलाकर वादा दिलाया, लेकिन दूसरा गुट राजी नहीं हुआ।

कई गुटों में बटे हैं प्रदर्शनकारी

3一5元扫雷群规怎么写वार्ताकारों को प्रदर्शनकारियों के कई गुटों से बात करनी पड़ रही है। एक गुट धरनास्थल को छोड़कर यातायात चालू कराने पर राजी है तो दूसरा गुट इसके लिए राजी नहीं है।

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के विरोध में दक्षिण दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से लगातार प्रदर्शन जारी है। प्रदर्शन के चलते बंद रास्ता खुलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने तीन वार्ताकारों संजय हेगड़े, साधना रामचंद्रन और वजाहत हबीबुल्लाह को नियुक्त किया है, जो बुधवार से लगातार रोजाना बातचीत कर रहे हैं। 

Posted By: JP Yadav