लाहौर, आइएएनएस। लाहौर उच्च न्यायालय के प्रमुख (LHC) ने प्रतिबंधित आतंकवादी जमात-उद-दावा (JuD) के नेता हाफिज सईद के खिलाफ दो आतंकी-वित्तीय मामलों को स्थानांतरित करने की अनुमति दी है़।  26/11 के मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड और साहीवाल से लाहौर तक के उसके चार सहयोगी के खिलाफ मामला दर्ज हैं। 

3一5元扫雷群规怎么写समाचार चैनल द न्यूज इंटरनेशनल ने बताया कि शुक्रवार को lhc के मुख्य न्यायाधीश मामून रशीद शेख ने अतिरिक्त अभियोजक जनरल अब्दुल समद खान के जुए नेताओं द्वारा दायर एक आवेदन की अनुमति दी, कहा कि अभियोजन को कोई आपत्ति नहीं है अगर अदालत ने मामलों को स्थानांतरित कर दिया। वकील इमरान फज़ल गिल ने कहा कि दो मामले याचिकाकर्ताओं के खिलाफ साहिवाल की आतंकवाद-निरोधी अदालतों के समक्ष लंबित हैं, जबकि कुछ अन्य समान मामलों की सुनवाई भी लाहौर ट्रायल कोर्ट द्वारा की जा रही है।

 कोर्ट ने सुनाई 11 साल की सजा

3一5元扫雷群规怎么写बता दें कि हाफिज सईद को पाकिस्तान कती कोर्ट ने टेरर फंडिंग के दो अलग-अलग मामलों में मामले में 5 साल 6 महीने कैद की सजा सुनाई है। दोनों मामलों में कुल 11 साल की सजा सुनाई गई है। दोनों सजा साथ-साथ चलेंगी। ये मामले आतंकवाद रोधी विभाग की लाहौर और गुंजरांवाला शाखाओं की ओर से दाखिल किए गए हैं।

पिछले साल हुई थी गिरफ्तारी  

गौरतलब है कि पिछले साल जुलाई में हाफिज सईद को सीटीडी ने गिरफ्तार किया था। उसकी गिरफ्तारी से पहले जेयूडी नेताओं के खिलाफ 23 प्राथमिकी सीटीडी पुलिस स्टेशन लाहौर, गुजरांवाला, मुल्तान, फैसलाबाद और सरगोधा में जुलाई 2019 में दर्ज की गई थी। इनमें जेयूडी और सईद का एक अन्य प्रमुख आतंकी अब्दुल रहमान मक्की शामिल हैं। 

3一5元扫雷群规怎么写मुंबई में 2008 में हुए आतंकी हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज साईद फिलहाल, उच्च सुरक्षा वाले लाहौर के कोट लखपत जेल में बंद है। इतना ही नहीं अमेरिका ने सईद पर एक करोड़ डालर का इनाम भी रखा है।

ये भी पढ़ें: 2012 Delhi Nirbhaya Case: तिहाड़ में बंद दोषी पवन ने अपने वकील से मिलने से किया इनकार

Posted By: Ayushi Tyagi